Nirjala Ekadashi 2022 : निर्जला एकादशी व्रत गलती से टूट जाए तो क्या करें । Boldsky । *Health

2 years ago
What to do if Nirjala Ekadashi fast is broken by mistake. Ekadashi fast is considered to have special significance in Hinduism. The date of Ekadashi falling in the Shukla Paksha of Jyeshtha month is known as Nirjala Ekadashi. It is also called Bhimseni Ekadashi. Nirjala Ekadashi fast is considered to be the biggest Ekadashi among all Ekadashi. On this day fast is kept for the whole day without water. Nirjala fast is kept on this day. Wearing yellow clothes and worshiping Lord Vishnu, the vow of fast is taken. It is believed that the special grace of Lord Vishnu and Mother Lakshmi remains on whoever observes this fast. This fast is considered to fulfill all the wishes. But what should be done if the fast is broken by mistake, today in this video we tell you.

निर्जला एकादशी व्रत गलती से टूट जाए तो क्या करें ।एकादशी व्रत का हिंदू धर्म में विशेष महत्व माना जाता है. ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली एकादशी की तिथि को निर्जला एकादशी के नाम से जाना जाता है. इसे भीमसेनी एकादशी भी कहा जाता है. निर्जला एकादशी व्रत सभी एकादशी में सबसे बड़ी एकादशी मानी जाती है. इस दिन बिना जल के पूरे दिन व्रत रखा जाता है. इस दिन निर्जला व्रत रखा जाता है. पीले वस्त्र धारण कर भगवान विष्णु की पूजा कर व्रत का संकल्प लिया जाता है. मान्यता है कि इस व्रत को जो भी विधि पूर्वक करता है उस पर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की विशेष कृपा बनी रहती है. इस व्रत को सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाला माना जाता है. लेकिन अगर व्रत गलती से खंडित हो जाए तो क्या करना चाहिए आज इस वीडियो में हम आपको बताते है ।

#NirjalaEkadashi2022

Recommended