7 months ago

Coal Crisis: देश में 88 Power Plants में कोयले की कमी, इन राज्यों में हालत सबसे खराब |वनइंडिया हिंदी

Many states of the country are facing power crisis these days, the main reason behind the power crisis is said to be increase in demand and shortage of coal, according to a report. Electricity demand in India has increased by 13.6% to reach 132.98 billion units in the month of April. In April last year, the electricity consumption in the country was 117.08 billion units. Since the beginning of April, Jharkhand has been facing an average power supply shortfall of 10-12 per cent, followed by Andhra Pradesh (10%), Uttarakhand (8-10%), Madhya Pradesh (6%) and Haryana ( is experiencing an average power supply shortfall of 4%)

देश के कई राज्य इन दिनों बिजली संकट से जूझ रहे हैं, बिजली संकट के पीछे मुख्य वजह मांग का बढ़ना और कोयले की कमी होना बताया जा रहा है , एक रिपोर्ट के मुताबिक. अप्रैल के महीने में भारत में बिजली की मांग 13.6% बढ़कर 132.98 बिलियन यूनिट पहुंच गई है. पिछले साल अप्रैल में देश में बिजली की खपत 117.08 बिलियन यूनिट थी. अप्रैल की शुरुआत के बाद से, झारखंड 10-12 फीसदी की औसत बिजली आपूर्ति की कमी का सामना कर रहा है, इसके बाद आंध्र प्रदेश (10%), उत्तराखंड (8-10%), मध्य प्रदेश (6%) और हरियाणा (4%) की औसत बिजली आपूर्ति की कमी का सामना कर रहा है

#CoalCrisis #PowerCrisis

coal shortage, Coal Crisis, India , thermal power plants, power crisis, power crisis in indi, shortage of coal , coal crisis in punjab, coal crisis in india, maharashtra, haryana coal shortage, oneindia hindi,वनइंडिया हिंदी, oneindia hindi news,वनइंडिया हिंदी न्यूज़

Browse more videos

Browse more videos