7 months ago

पचास हजार की आबादी, चुनाव के समय वादे खूब, जीतकर देखते ही नहीं पुर की तरफ

Patrika
Patrika
राजस्थान पत्रिका के मेरा शहर मेरा मुद्दा अभियान के दूसरे दिन शनिवार को पुर के वार्ड तीन में जमा हुए लोगों ने विकास को लेकर पीड़ा जाहिर की। लोगों का एक स्वर में कहना था कि पुर की भले ही पचास हजार की आबादी हो। लेकिन विकास के नाम पर महज यहां खानापूर्ति की जा रही है।

Browse more videos

Browse more videos