2 years ago

Rajasthan sangeet sansthan: अब हर आयु वर्ग के लोग ले सकेंगे प्रवेश

Patrika
Patrika
अब हर आयु वर्ग के लोग ले सकेंगे प्रवेश
डिप्लोमा कोर्स में 45 साल आयु सीमा की बाध्यता समाप्त
राजस्थान संगीत संस्थान की पहल
दो साल के गैप की बाध्यता भी समाप्त
पिछले कई दशकों से कलाकारों को तैयार कर रहे राजस्थान संगीत संस्थान ने अब एक नई पहल की है। संस्थान ने अपने डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन के लिए आयु सीमा की बाध्यता को समाप्त कर दिया है। अब यहां हर आयु वर्ग के स्टूडेंट्स एडमिशन ने सकेंगे। अब तक 45 वर्ष से अधिक आयु वाला कोई व्यक्ति यदि एडमिशन लेना चाहता था तो उसे एडमिशन नहीं मिलता था।
1990 में तय कर दी थी बाध्यता
आपको बता दें कि 1950 में राजस्थान संगीत संस्थान की स्थापना 1950 में की गई थी। शुरुआत में यहां एडमिशन लेने में आयु सीमा को लेकर कोई बाध्यता नहीं थी, लेकिन 1990 में संस्थान में एडमिशन प्रक्रिया में आयु सीमा की बाध्यता को लागू कर दिया गया। ऐसे में ऐसे लोग जो इस आयु के बाद यहां एडमिशन लेना चाहते थे वह प्रवेश नहीं ले पा रहे थे और उनकी लंबे समय से यह मांग थी कि संस्थान के विभिन्न कोर्सेज में एडमिशन में आयु सीमा की बाध्यता को समाप्त किया जाए।
लिखित में नहीं कोई नियम
जानकारी के मुताबिक संस्थान में इसी वर्ष मार्च में पदभार ग्रहण करनेवाली संस्थान की प्राचार्या डॉ. स्निग्धा शर्मा को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने इस संबंध में राज्य सरकार को एक प्रस्ताव भेज कर आयु सीमा की बाध्यता को समाप्त किए जाने की मांग की। जिस पर सरकार ने डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन के लिए आयु सीमा की बाध्यता को समाप्त कर दिया। डॉ. स्निग्धा का कहना है कि संस्थान के किसी भी दस्तावेज में हमें आयु सीमा की बाध्यता लिखित में देखने में नहीं आई। ऐसे में सरकार ने भी हमारे प्रस्ताव को आसानी से स्वीकृत कर दिया।
दो साल के गैप की बाध्यता भी समाप्त
इतना ही नहीं संस्थान अब उन लड़कों को भी एडमिशन देगा जिन्हें 12वीं कक्षा के बाद दो साल से अधिक गैप आने के कारण एनरोलमेंट नहीं मिलता था। इसके लिए संस्थान ने सरकार को पत्र लिखा था, जिसकी स्वीकृति मिल गई है। अब संस्थान ऐसे स्टूडेंट्स जिन्हें 12वीं की पढ़ाई छोड़े हुए दो साल या इससे अधिक समय हो चुका है, उन्हें भी एडमिशन मिल सकेगा। गैप की बाध्यता समाप्त होने का फायदा उन्हें लड़कों को मिलेगा जो इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। आपको बता दें कि लड़कियों को लेकर इस प्रकार की बाध्यता संस्थान में नहीं हैं। संस्थान में वॉकल, डांस और इंस्ट्रूमेंट्स से संबंधित विभिन्न प्रकार के कोर्सेज संचालित किए जा रहे हैं।
इनका कहना है,
हमने आयु सीमा की बाध्यता को समाप्त किए जाने के लिए सरकार से स्वीकृति मांगी थी जो हमें मिल गई है। इसके साथ ही 12वीं के बाद दो साल या इससे अधिक का गैप होने पर संस्थान में बॉयज को एडमिशन नहीं मिल पाता था इस गैप को समाप्त किए जाने की स्वीकृति भी संस्थान को मिल चुकी है। हमने प्रोविजनल एडमिशन भी शुरू कर दिए हैं।
डॉ. स्निग्धा शर्मा,प्राचार्या,
राजस्थान संगीत संस्थान।

Browse more videos

Browse more videos